बसों में मुफ्त यात्रा करने वालों को अब लगाना होगा अंगूठा, मिलान नहीं हुआ तो देना होगा किराया


चंडीगढ़.(रवि शर्मा) हरियाणा रोडवेज की बसों में मुफ्त में यात्रा करने वालों को अब अंगूठा लगाना होगा। यदि अंगूठे के निशान का मिलान नहीं हुआ तो किराया लगेगा। रोडवेज विभाग की ओर से मुफ्त यात्रा करने वालों को अब आधार से जोड़ा जाएगा। विभाग एक सॉफ्टवेयर तैयार करा रहा है।
इसके लिए सभी कंडक्टरों को एक मशीन दी जाएगी, जिसमें मुफ्त यात्रा करने वालों के आधार की पूरी डिटेल होगी। इस मशीन पर मुफ्त यात्रा करने वाले का अंगूठा लगाया जाएगा। इससे न केवल फर्जीवाड़ा रुकेगा, बल्कि विभाग को इसकी पूरी जानकारी रहेेगी कि मुफ्त यात्रा करने वालों से विभाग पर कितना बोझ पड़ रहा है। विभाग करीब 600 करोड़ रुपए के घाटे में चल रहा है, जिसमें मुफ्त यात्रा करने वालों की टिकट का पैसा नहीं जुड़ रहा।
ये हैं मुफ्त यात्रा करने वाली श्रेणी
स्वतंत्रता सेनानी, सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, स्वतंत्रता सेनानी की विधवा, दृष्टिहीन, पत्रकार, लेखक, लोक कलाकार, अर्जुन अवॉर्डी, राज्य अवॉर्डी खिलाड़ी, ओलिंपियन, साक्षात्कार को जाने वाले बेरोजगार, सेन्य विधवाएं, राष्ट्रीय यूथ अवॉर्डी, 100% गूंगे-बहरे, 100% दिव्यांग और उसके साथ एक व्यक्ति, रक्षा बंधन पर महिलाएं, पैरालिंपिक खिलाड़ी, हिमोफिलिया रोगी, नंबरदार महीने में दस दिन गांव से तहसील और दो दिन जिला मुख्यालय तक, गैलेंटरी अवॉर्डी, 25 प्रतिशत या उससे अधिक युद्ध् दिव्यांग पूर्व सैनिक, छात्राएं, कैंसर रोगी, आपातकाल के पीड़ित और इस दौरान हुई विधवा और विदुर के साथ एक व्यक्ति, हिंदी आंदोलन के पीड़ित मुफ्त यात्रा की श्रेणी में आते हैं। एनसीसी कैडेट्स, 65 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग, राज्य स्तरीय खिलाड़ी, हरियाणा पुलिस के कर्मचारी आदि 10 कैटेगिरी श्रेणी में रियायत दी जाती है।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours