16 अप्रैल 2018 को भुप्पी राणा गैंग ने भूपेश राणा की गोलियां मार कर हत्या कर दी थी

पंचकूला। रायपुररानी के बहुचर्चित मोनू राणा ग्रुप के भूपेश राणा के मर्डर केस में मुख्य आरोपी गैंगस्टर भुपिंदर सिंह उर्फ भुप्पी राणा और उसके साथी गौरव उर्फ रोडा को सी.आई.ए. स्टाफ को रविवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार रविवार देर रात सेक्टर-25 में उनकी टीम ने नाका लगाया हुआ था। इस दौरान जब उन्होंने एक कार को रुकने का इशारा किया तो कार चालक ने बैरिकेट्स तोड़कर भागने की कोशिश की। पुलिस ने फुर्ती दिखते हुए भुप्पी राणा और उसके साथी गौरव को पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपियों की कार को भी कब्जे में ले लिया। आज पुलिस दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश करेगी। पंचकूला पुलिस के साथ-साथ मोहाली पुलिस को भी कई मामलों में भुप्पी राणा की तलाश थी।
क्या था मामला...
- बरवाला में भरैली फिरनी मार्ग पर 16 अप्रैल 2018 को चंंडीमंदिर थाना क्षेत्र के बरवाला में मोनू राणा ग्रुप का भूपेश राणा अपनी कार में जा रहा था। जैसे ही वह घर से कुछ ही दूरी पर स्थित शिव मंदिर के नजदीक पहुंचा तो स्विफ्ट कार में सवार उसी समय भुप्पी राणा गैंग ने उस पर गोलियों की बौछार कर दी थी।
- हमलावरों ने पहली गोली भूपेश की कार के दरवाजे पर मारी थी। जैसे ही वह कार से उतरकर भागने लगा, तो दूसरी गोली उसकी टांग में मारी, जिससे वह वहीं गिर गया, उसके बाद उसकी छाती व सिर में कई गोलियां मारीं, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। 
- कार में दो और युवक भी सवार थे, जिन्होंने दौड़कर साथ लगते प्राइमरी स्कूल में घुसकर अपनी जान बचाई थी। मोनू राणा और भुप्पी राणा गैंग में पिछले काफी समय से गैंगवार चल रही है।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours