अब नाइट क्लबों की खैर नहीं, खामियां मिलीं तो मौके पर ही लाइसेंस होंगे रद्द

द मिडलैंड न्यूज़
मोहाली  (रोहित कुमार)
वीआईपी जिले में चल रहे नाइट क्लबों पर जिला प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है। अब जब भी क्लबों और डिस्कोथेक की चेकिंग होगी तो उस समय एडीसी स्तर के अधिकारी मौके पर मौजूद रहेंगे। वहीं इस दौरान चेकिंग मे खामियां मिलने पर मौके पर क्लबों के लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे। इस संबंधी डीसी गिरीशी दियालन ने अधिकारियों को आदेश दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक वीआईपी जिले के विभिन्न पुलिस सब डिवीजनों में डिस्कोथेक चल रहे हैं। इनमें मोहाली, जीरकपुर और खरड़ का एरिया शामिल हैं। प्रशासन द्वारा तय नियमों के मुताबिक रात 12 बजे के बाद डिस्कोथेक नहीं चल सकते हैं लेकिन कई डिस्को थेक नियमों को ताक में रखकर चल रहे थे। कई बार पुलिस ने इन पर कार्रवाई तक की थी। इसी बीच एसएसपी कुलदीप सिंह चहल ने डीसी गिरीश दियालन को एक पत्र लिखकर मांग की थी कि उक्त क्लबों के लाइसेंस तुरंत रद्द करके इन पर ताले लगाए जाएं क्योंकि इनकी वजह से इलाके का माहौल खराब हो रहा है। इन पर सख्ती करके इलाके का माहौल बढ़िया बनाया जा सकता है।
हालत में सुधार न होने के चलते लिया फैसला
बता दें कि मोहाली में चलने वाले कई डिस्कोथेक के मालिकों द्वारा नियमों को ताक में रखकर देर रात तक पार्टियां की जाती रही हैं। इसमें चंडीगढ़ की शराब परोसने के मामले भी सामने आ चुके हैं। इसके अलावा क्लबों के बाहर गोली चलने से पुलिस जवान तक की जान जा चुकी है। इसके अलावा कई नाइट क्लब पुलिस ने सील तक किए थे लेकिन इसके बाद भी हालत में सुधार नहीं होने के बाद इस दिशा में कार्रवाई की गई।
बाहरी जिलों के होते हैं अधिकतर युवा 
एक बात यह भी सामने आई कि जो जिले में क्लब चलते हैं। उनमें अधिकतर युवा मोहाली या चंडीगढ़ के नहीं बल्कि पंजाब के अन्य जिलों के साथ ही हरियाणा और हिमाचल के होते हैं जो नशे में चूर होकर लड़ते है। इसके बाद वे वहां से निकल जाते हैं।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours