जालंधर. पंजाब में वीरवार काे पहली बार काेराेना के 162 नए केस आए। सबसे ज्यादा अमृतसर में 76, लुधियाना में 48, माेहाली में 13, तरनतारन में 7, जालंधर, मुक्तसर में 3-3, फगवाड़ा में 4, संगरूर और रोपड़ में 2-2, मोगा, पटियाला, फिरोजपुर और फतेहगढ़ साहिब में 1-1 केस आया। आंकड़ा अब 544 पहुंच गया है। चिंताजनक बात यह है कि 162 पॉजिटिव मरीजों में 145 हजूर साहिब से लौटे श्रद्धालु हैं। 4 लेबर के लोग हैं। वहीं, राज्य में 3439 लोगों की रिपोर्ट भी पेंडिंग है।
पहली बार एक जिले अमृतसर से 76 केस आए
पहली बार एक जिले अमृतसर से 76 केस आए। यह सभी पिछले 3 दिन में नांदेड़ स्थित हजूर साहिब गुरुद्वारा से बसों और निजी वाहनों में लौटे हैं। वहीं, लुधियाना में भी पहली बार 48 केस आए। इनमें 38 श्रद्धालु हैं। 2 व्यक्ति लेबर केे, एक मरीज महिला जेल से संबंधित और 6 लुधियाना के विभिन्न इलाकों से हैं जबकि एक बीडीपीओ के संपर्क का है। लुधियाना में हजूर साहिब से 2 बसों में 26 अप्रैल को 43 श्रद्धालु पहुंचे थे। जिनकी स्क्रीनिंग कर उन्हें घर लौटा दिया था। तरनतारन में भी 7 लोग संक्रमित पाए गए। एक मरीज को छुट्‌टी दे गई है।
नवांशहर, पटियाला, मोगा और फिरोपुपर में 1-1 श्रद्धालु की रिपोर्ट पॉजिटिव
नवांशहर, पटियाला, मोगा और फिरोपुपर में 1-1 श्रद्धालु की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फगवाड़ा में जो 4 लोग संक्रमित पाए गए उनमें 3 श्रद्धालु हैं जबकि एक युवक दिल्ली से आया था। जालंधर में 1 श्रद्धालु समेत 3 संक्रमित पाए गए। मुक्तसर में दंपति समेत 3 श्रद्धालुओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रोपड़ में भी 2 श्रद्धालु संक्रमित पाए गए। वहीं, संगरूर में जिन दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनमें एक श्रद्धालु और एक हरियाणा से लौटा युवक है।  मोहाली में 13 नए केस आए। इनमें 10 श्रद्धालु हैं। 2 जवाहरपुर और एक न्यू चंडीगढ़ से है। सूबे में अब 20 जिले ओरेंज जोन में जबकि जालंधर समेत 6 जिले हॉट स्पॉट हैं। फाजिल्का व बरनाला में कोई केस नहीं है।    
अब तक 184 हजूर साहिब श्रद्धालु पॉजिटिव, कई की रिपोर्ट पेंडिंग
हजूर साहिब से लौटे अब तक पिछले 4 दिनों में 184 श्रद्धालु पॉजिटिव हो चुके हैं। सरकार के मुताबिक राज्य में 3525 के करीब श्रद्धालु लौटे हैं। कई श्रद्धालु खुद भी अपने वाहन कर आए हैं। कई श्रद्धालुओं की रिपोर्ट अभी पेंडिंग है। इससे आंकड़ा और बढ़ने की आशंका है। अमृतसर में बुधवार को एक साथ 76 केस आए। इससे वह सूबे में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीजों वाला जिला बन गया है। यहां अब 90 मरीज हो गए हैं। जालंधर 89 मरीज के साथ दूसरे, मोहाली 87 के साथ तीसरे, लुधियाना 77 के साथ चौथे और पटियाला 63 के साथ पांचवें और पठानकोट 25 मरीजों के साथ छठे नंबर पर है। यह सभी जिले अब कोरोना के हॉट स्पॉट बने हुए हैं।
पॉजिटिव हो या नेगटिव दोनों को रखा जाए क्वारेंटाइन में
सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अब दूसरे राज्यों से आने वालों को गांव स्तर पर क्वारेंटाइन के  लिए बनाई गई इमारतों में रखने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि चाहे कोई केस पाॅजिटिव हो या निगेटिव हो, सभी को क्वारेंटाइन किया जाए। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि बाहर से आने वाले हर व्यक्ति को 21 दिनों का क्वारेंटाइन पूरा होने के बाद ही घर भेजने की मंजूरी दें क्योंकि आम तौर पर महामारी के लक्षण थोड़े समय के बाद सामने आते हैं। इन लोगों में से पाॅजिटिव और निगेटिव  पाए जाने वालों को अलग-अलग रखा जाए। 
चीमा बोले- क्या सरकार इतने समय तक सो रही थी
नेता विपक्ष हरपाल चीमा ने कहा कि कोरोना बढ़ने की वजह सरकार है। सरकार को श्रद्धालुओं को 21 दिन क्वारेंटाइन करने का फैसला पहले लेना चाहिए था। क्या सरकार इतने समय तक सो रही थी।
शिअद ने कहा- श्रद्धालुओं के आने से पहले लेते फैसला
अकाली नेता डॉ. दलजीत चीमा ने कहा कि सरकार ने जो फैसला अब लिया है यह फैसला सरकार को श्रद्धालुओं और दूसरे लोगों के आने से पहले ही ले लेना चाहिए था। जमीनी स्तर पर तैयारी नहीं है।
पंजाब व राजस्थान ने की अंतरराज्यीय एंट्री बंद
पंजाब में नांदेड़ से लौटे 145 श्रद्धालुओं के पॉजिटिव आने के बाद पंजाब व राजस्थान ने अंतरराज्यीय एंट्री बंद कर दी है। दो दिन से एंट्री बंद होने से पंजाब के मजदूरों से भरी 13 बसें श्रीगंगानगर व बीकानेर में अटकी हुई हैं। फाजिल्का प्रशासन ने श्रीगंगानगर प्रशासन को बुधवार को आगाह कर एंट्री बंद करने को कहा थ। ऐसे में किसी को पंजाब आने का पास जारी न करें। इसके बाद एहतियात के तौर श्रीगंगानगर जिला प्रशासन ने भी पंजाब से आने वाले किसी व्यक्ति को एंट्री न देने का फैसला लिया है।
सूबे में फंसे दूसरे राज्यों के लोगों की घर वापसी का रास्ता 5 को खुलेगा
सूबा सरकार पंजाब में फंसे दूसरे राज्यों के लोगों को वापस भेजने की तैयारी कर रही है। इन्हें 5 मई को बसों के जरिए भेजा जाएगा, ऐसे लोगों का पता लगाने के लिए डीसी, सीपी और एसएसपी को पत्र जारी किया गया है। सभी जिले के डीसी को लेटर मिलने के 48 घंटों के अंदर यह काम करना होगा। डीसी को लिंक www.covidhelp.punjab.gov.in पर अपने राज्य जाने के इच्छुक व्यक्ति का परफॉर्मा भरवाना होगा। ऐसे लोगों के लिए एक यूनिक आईडी जारी किया जाएगा।
एक दिन में 18 नए केस मिले, झज्जर-गुड़गांव में 7-7
हरियाणा में कंट्रोल में दिख रहा कोरोना एक बार फिर चुनौती बनता जा रहा है। वीरवार को फरीदाबाद में एक और मरीज की मौत हो गई। इसके साथ ही कोरोना से मरने वालों की संख्या 4 हो गई है। वहीं राज्य में 24 घंटे में 18 नए मरीज सामने आए हैं। वहीं पंजाब के साथ ही हजूर साहिब से आए श्रद्धालु हरियाणा के लिए भी मुसीबत बन सकते हैं। 39 श्रद्धालुओं को अंबाला में क्वारेंटाइन कर सैंपल लिए गए हैं। इनमें से अम्बाला के 11 व दिल्ली के 7 हैं। बाकी प्रदेश के अन्य जिलों के हैं। सिरसा में 21 और फतेहाबाद में भी 18 लोग हजूर साहिब से आए हैं। वहीं हरियाणा में कोरोना संक्रमण की बड़ी वजह दिल्ली बनता जा रहा है, क्योंकि राज्य में पिछले कुछ दिनों से दिल्ली के साथ लगते हरियाणा के जिलों में तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है।
बहादुरगढ़ में सात नए केस मिले
झज्जर जिले के बहादुरगढ़ में सात नए केस मिले हैं। ये सभी सब्जी व्यापारी हैं। इनमें तीन तो लगातार दिल्ली की आजादपुर मंडी जाते रहें हैं। अब प्रदेश में जिन 103 मरीजों का इलाज चल रहा है, उनमें से 82 एनसीआर में आने वाले गुड़गांव, फरीदाबाद, पलवल, सोनीपत, नूंह, पानीपत और झज्जर जिले के हैं। हालांकि राज्य में पंचकूला और नूंह से 4-4 और गुड़गांव से दो मरीज ठीक होकर घर भी लौटे हैं। पंचकूला में एक ही परिवार के नौ लोग संक्रमित हुए थे। इनमें सात पहले ठीक हो चुके हैं। 
बहादुरगढ़, 7 और सब्जी व्यापारी कोरोना की चपेट में
दिल्ली आजादपुर सब्जी मंडी कनेक्शन वाले झज्जर व बहादुरगढ़ के 12 व्यापारी-कर्मचारी बुधवार तक सामने आ चुके थे। गुरुवार काे बहादुरगढ़ सब्जीमंडी के 7 और व्यापारी पाॅजिटिव मिले। इसके चलते उनके परिवारों के करीब 200 लोगों का सिविल अस्पताल में कोरोना टेस्ट किया गया। इसके साथ ही जिले में मरीजों की संख्या 25 हो गई है। सीएमओ डाॅ. रणदीप सिंह पुनिया ने कहा कि बहादुरगढ़ के किला मोहल्ला, दयानंद नगर, सैनीपुरा व जटवाड़े क्षेत्र के प्रभावित क्षेत्रों को सील किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि नए मिले 7 केस में से 3 व्यापारी ताे आजादपुर सब्जीमंडी 3 दिन पहले तक जाते रहे हैं। बाकी बचे 4 व्यापारी हाल में आजादपुर नहीं गए थे। एहतियात के ताैर पर झज्जर व बहादुरगढ़ सब्जीमंडी पूरी तरह बंद कर दी है। 
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours