अमृतसर. अमृतसर में गुरुवार को पद्मश्री से सम्मानित श्री हरिमंदिर साहिब के पूर्व हुजूरी रागी भाई निर्मल सिंह के अंतिम संस्कार को लेकर ग्रामीण और प्रशासन आमने-सामने हो गए। मंगलवार को यहां भर्ती कराए जाने के बाद बुधवार शाम को उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई और गुरुवार तड़के उन्होंने आखिरी सांस ली। अब उनके अंतिम संस्कार को रोकने के लिए सभी जातियों के लोगों ने अपने-अपने घाट की सुरक्षा के लिए पहरा बिठा दिया है। लोगों का कहना है कि दाहसंस्कार से उड़ने वाली राख गांवों में गिरेगी, जिससे उन्हें भी संक्रमण हो सकता है। पंजाब में यह कोरोना संक्रमण से बीते 14 दिन में पांचवीं मौत है, वहीं राज्य के विभिन्न इलाकों पर कोरोना का खतरा और गहरा गया है, क्योंकि निर्मल सिंह ने बीते दिनों पंजाब में कई जगह धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लिया है। हालांकि, बाद में फतेहगढ़ के शुक्रचक गांव में पंचायती जमीन पर उनका अंतिम संस्कार किया गया।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours