मुक्तसर. पंजाब के मुक्तसर में स्थानीय डीसी के एक आदेश को लेकर विवाद हो गया. दरअसल गुरुवार से खुलने जा रही शराब की दुकानों और शराब की होम डिलीवरी को लेकर स्थानीय डीसी ने तमाम धार्मिक स्थलों को चिट्ठी लिखकर आदेश दिया कि वो अपने गुरुद्वारों और अन्य धार्मिक स्थलों के लाउडस्पीकर से गांवों में अनाउंसमेंट करें कि शराब की दुकानें खुलने जा रही हैं और इस दौरान शराब की डिलीवरी भी की घर-घर की जाएगी.

डीसी के इस आदेश पर विवाद हो गया. हालांकि इस पूरे मामले पर विवाद बढ़ता देख चंद घंटों में मुक्तसर  के डीसी ने अपने आदेशों को वापिस ले लिया. वहीं इस आदेश को लेकर अकाली दल ने पंजाब की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है.

अकाली दल प्रवक्ता ने कांग्रेस सरकार पर रेवेन्यू कमाने के लिए नीचे गिरने का आरोप लगाया
अकाली दल  के प्रवक्ता और पूर्व मंत्री दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार रेवेन्यू कमाने के लिए इतना नीचा गिर रही है कि धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर के माध्यम से शराब की होम डिलीवरी किए जाने का ऐलान करने का दबाव बनाया जा रहा है.

ऐसा आदेश जारी करके पंजाब सरकार ने तमाम धार्मिक स्थलों की बेअदबी की है और सरकार को इसे लेकर माफी मांगनी चाहिए और जिन लोगों ने आदेश जारी किया है, उनके खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए और मुख्यमंत्री को इस पूरे मामले को खुद देखना चाहिए.

पंजाब में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या हुई 1247
बता दें पंजाब (Punjab) में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 15 नए मामले आये. जिससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,451 पर पहुंच गई. ये सभी मामले मुख्तार जिले से सामने आये हैं, इसके साथ ही जिले में संक्रमितों की संख्या 64 हो गई. राज्य में सबसे ज्यादा प्रभावित जिला अमृतसर (Amritsar) है यहां अभी तक 218 संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है.

गौरतलब है कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (CM Amarinder Singh) ने संक्रमितों की बढ़ती संख्या देकते हुए सोमवार को राज्य और चंडीगढ़ में केंद्र सरकार के तहत आने वाले छह शोध संस्थानों में जांच क्षमता तत्काल 2000 प्रतिदिन तक बढ़ाने की मांग की.

बुलेटिन में कहा गया है कि प्रदेश में अबतक कुल 28,545 नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से 21,295 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव रही है जबकि 6,018 की रिपोर्ट का इंतजार है. इसमें कहा गया है कि प्रदेश में 1,293 लोगों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है.
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours