गुरदासपुर. जिला गुरदासपुर में कोरोना वायरस का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। वीरवार को बटाला में चार गर्भवती महिलाएं कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। हालांकि इन चारों में कोरोना का कोई लक्ष्ण नहीं है। चारों महिलाओं में से दो की डिलीवरी हो चुकी है, जबकि 2 की डिलीवरी होनी अभी बाकी है। इसके चलते प्रशासन अब उनके ऑप्रेशन करने वाले डॉक्टरों, स्टाफ के अलावा इनके संपर्क में आने वालों की पहचान करने में जुट गया है।
ये महिलाएं बटाला के गांव डाला (कादियां), ढढियाला नजारा, धंधोई (कादियां) तथा बसंत नगर (बटाला) से संबंधित हैं। जिले में अब तक कोरोना के 130 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 122 लोगों ठीक हो चुके हैं, 7 एक्टिव मरीज हैं, जबकि एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो चुकी है। पॉजिटिव पाई गई महिलाओं को हाई रिस्क प्रेगनेंसी का खतरा था। इसके चलते इनके 19 मई को बटाला में सैंपल लिए गए थे। सभी महिलाओं की उम्र 30 से 35 साल के बीच है। ये महिलाएं 19 मई से पहले व उसके बाद जिन-जिन के संपर्क में आईं, सेहत विभाग इसका पता लगाने में जुट गया है ताकि उनकी सैंपलिंग की जा सके।
पूल टेस्टिंग : कोई भी करा सकता है टेस्ट : डॉ. किशन
सिविल सर्जन डॉ. किशन चंद ने बताया कि विभाग की ओर से जारी निर्देशों पर अब सभी गर्भवती महिलाओं के कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। विभाग की ओर से पूल टेस्टिंग भी शुरू की गई है, जिसमें कोई भी आकर अपना टेस्ट करवा सकता है।
जिन दो महिलाओं की डिलीवरी नहीं हुई उन्हें घर से लाया गया अस्पताल
वीरवार को बटाला के सिविल अस्पताल के जच्चा-बच्चा वार्ड में डिलीवरी संबंधी चैकअप कराने वाली चार महिलाओं के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर अस्पताल में हड़कंप मच गया। इन महिलाओं में 2 की डिलीवरी हो चुकी है और 2 महिलाओं की डिलीवरी अभी होनी है। इन 2 महिलाओं का ओपीडी में इलाज चल रहा था, इनकी पॉजिटिव रिपोर्ट आ जाने पर उन्हें भी घरों से लाकर अस्पताल में दाखिल किया गया है। महिलाओं कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं। कोरोना पॉजिटिव आई इन चारों महिलाओं की ट्रैवल हिस्ट्री का अभी तक पता नहीं चल पाई है। जो सेहत विभाग के लिए चिंता की बात है।
नवजात स्वस्थ हैं, स्टाफ की होगी सैंपलिंग : एसएमओ
सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ.संजीव भल्ला ने बताया कि एक महिला शहर की एक बाहरी आबादी की रहने वाली है और 3 अन्य महिलाएं आसपास के गांवों से हैं। इन सभी महिलाओं के परिवारों, उनके संपर्क में आए अस्पताल स्टाफ कर्मचारियों के अलावा दो डायग्नोस्टिक सैंटरों जहां से उन्होंने अल्ट्रासाउंड स्कैनिंग वहां के सदस्यों का क्वारेंटाइन किया गया है। इन सेंटरों को अपना काम बंद करने के लिए कह दिया गया है। इसके अलावा महिलाओं के संपर्क में आए संभावित सभी लोगों की भी पहचान की जा रही है। नवजात बच्चों के सैंपल लिए गए हैं। बच्चें अभी स्वस्थ हैं। वहीं जिन 2 महिलाओं की अभी डिलीवरी नहीं हुई है। उनके गर्भ में पर रहे बच्चों के बारे में कुछ कहा नहीं जा  सकता। डिलिवरी के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। अस्पताल में रहने के दौरान 20 से 22 सेहत कर्मचारी इन महिलाओं के संपर्क में रहे थे, उनकी पहचान करके सैंपल लिए जाएंगे। अब तक बटाला में कोरोना का कोई केस नहीं आने पर यह ग्रीन जोन में रहा है, लेकिन अब यहां भी कोरोना पॉजिटिव का मामला आ गया है। 
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours