नई दिल्ली. गूगल पे ने बुधवार को कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के दिशानिर्देशों के तहत निर्धारित प्रक्रिया द्वारा उसके प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से किए जाने वाले लेन-देन पूरी तरह से सुरक्षित हैं. गूगल पे का यह स्टेटमेंट, सोशल मीडिया पर इस चर्चा के बाद आया कि Google पे से पैसे ट्रांसफर करते समय आने वाले मुद्दों को कानून के तहत निवारण नहीं किया जा सकता है क्योंकि ये ऐप अनधिकृत है.

NPCI की वेबसाइट पर किया जा सकता है वेरीफाई- गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा, Google पे प्लेटफ़ॉर्म से पैसे ट्रांसफर करते समय अगर कोई दिक्कत आती है तो उसका समाधान क़ानून द्वारा नहीं किया जा सकता, क्योंकि ऐप अनधिकृत है. लेकिन यह गलत है और इसकी सच्चाई को एनपीसीआई की वेबसाइट पर वेरीफाई किया जा सकता है. गूगल के प्रवक्ता ने कहा कि आरबीआई ने इस तरह की कोई बात अदालत की सुनवाई में नहीं कही है.

किसी क़ानून उल्लंघन नहीं करता- इस महीने की शुरुआत में आरबीआई ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया था कि गूगल पे एक तृतीय पक्ष एप प्रदाता है और किसी भी भुगतान प्रणाली को संचालित नहीं करता है. साथ ही आरबीआई के मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति प्रतीक जालान ने कहा कि इसका संचालन 2007 के भुगतान और निपटान प्रणाली कानून का उल्लंघन नहीं है.

24 घंटे सर्विस देता है ऐप- Google के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि Google पे पूरी तरह से कानून के दायरे में है. Google पे पार्टनर बैंकों को UPI (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) के माध्यम से पेमेंट करने के लिए एक प्रौद्योगिकी सेवा प्रदाता के रूप में काम करता है. देश में UPI ऐप्स को 'थर्ड पार्टी ऐप' है और उसे भुगतान सिस्टम ऑपरेटर होने की जरुरत नहीं है. यूजर्स Google Pay अपनी सर्विस 24 घंटे देता है इसकी मदद से किसी को कहीं भी आसानी से मनी ट्रांसफर की जा सकती है.
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours