चंडीगढ़. पंजाब में विदेश से ही नहीं अन्य राज्यों से आने वालों को अब 14 दिन होम क्वारेंटाइन होना पड़ेगा। सूबे में कोरोना के केस 6600 पार और माैतें 175 होने के बाद पंजाब सरकार ने सख्ती कर दी है। अब दूसरे राज्यों से पंजाब आने वालों के लिए ई-रजिस्ट्रेशन जरूरी कर दिया है। नियम सोमवार रात से लागू हो गए हैं। इसमें खासतौर पर दिल्ली व एनसीआर से आने वालों पर खास नजर रखी जाएगी।
पंजाब में अब वहीं वाहन प्रवेश कर सकेगा जिसने ई-रजिस्ट्रेशन कराया होगा। बिना रजिस्ट्रेशन पर नाके पर पुलिस कर्मचारी ई-रजिस्ट्रेशन कराएंगे। ई-रजिस्ट्रेशन कोवा एप से कर सकते हैं। इस ई-रजिस्ट्रेशन का मंतव्य चैकिंग वाले स्थानों पर लम्बी कतारों या भीड़-भाड़ के कारण होने वाली मुश्किल से यात्रियों को बचाना है।
गौर हो कि पहले पंजाब में स्क्रीनिंग के बाद ही लक्षण पाए जाने पर लोगों को क्वारेंटाइन किया जाता था। अगर अब एक दिन के लिए भी दूसरे राज्य जाते हैं तो लौटने पर 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन होना पड़ेगा। आपकों बता दें कि जून में पंजाब में कोरोना के केसों में काफी बढ़ाेतरी हुई है। हालांकि पिछले एक महीने के दौरान सूबे में सैंपलिंग काफी बढ़ गई है। इससे मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है।  
वो सब कुछ जो आपका जानना जरूरी
  • मैं अगर 1 घंटे के लिए हिमाचल, हरियाणा जाता हूं तो क्या होगा? 
  • -सरकार की हिदायतों के मुताबिक कोई भी व्यक्ति हिमाचल, हरियाणा या दूसरे राज्यों में 1 दिन के लिए जाता है तो लौटते समय 14 दिन होम क्वारेंटाइन होना पड़ेगा।
  • ट्राईसिटी जाने पर क्या नियम?‌
  • -ट्राइसिटी (चंडीगढ़, पंचकूला व मोहाली)आने व जाने वालों को क्वारेंटाइन की जरूरत नहीं। 
  • बाहरी राज्यों से आने के लिए क्या करना होगा?
  • पंजाब आने पर सबसे पहले कोवा एप या वेब लिंक https://cova.punjab.gov.in/registration पर रजिस्ट्रेशन करानी होगी। इसमें वाहन चालक को खुद को रजिस्टर्ड करने के साथ वाहन में बैठे अन्य लोगों की भी जानकारी देनी होगी। सभी के फोन में कोवा एप होनी चाहिए। क्यू आर कोड वाला प्रिंट कार के फ्रंट शीशे पर लगाना होगा।  
  • बिना रजिस्ट्रेशन आने पर क्या होगा?
  • -दूसरे राज्य से आने पर बॉर्डर पर तैनात पुलिस रजिस्ट्रेशन कराएगी। 
  • पंजाब से होकर गुजरने पर क्या करना होगा? 
  • -अगर पंजाब से दूसरे राज्य जा रहे हैं तो मोबाइल में कोवा एप या आरोग्य सेतू एप होना जरूरी है। क्वारेंटाइन की जरूरत नहीं होगी। वह जिस राज्य में जा रहे है वहां के नियमों के हिसाब से रहना होगा।
  • क्वारेंटाइन में क्या करना होगा?
  • -आपको सेहत की जानकारी रोजाना हेल्पलाइन नंबर 112 या कौवा एप के द्वारा देनी होगी।
ये होगा फायदा... ई-रजिस्ट्रेशन से सरकार को पंजाब में प्रवेश करने वालों को ट्रेक करने में आसानी होगी। उनकी हर मूवमेंट पर नजर रखी जा सकेगी।
कोरोना से 216 संक्रमित, 6 मौतें 58 अन्य गंभीर
सूबे में साेमवार काे 5 की माैत  व 216 नए केस आए। वहीं, 58 मरीजों की हालत गंभीर है। इनमें 52 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट और 6 वेंटिलेटर पर हैं। संक्रमितों का आंकड़ा अब 6681 और मौतों की संख्या 175 हो गई है। सूबे में सबसे ज्यादा खराब हालात जालंधर, लुधियाना, पटियाला, अमृतसर अाैर संगरूर में हैं। यहां एक्टिव केस रोजाना बढ़ रहे हैं। 
कहां-कहां मौतें...
  • लुधियाना में 2 की मौत हुई। इनमें एक दीन बहादूर (57) ने लुधियाना व प्रभजोत (43) ने चंडीगढ़ में दम तोड़ा।    
  • अमृतसर के गली जस्सा सिंह निवासी जगन्नाथ (42) की जीएनडीएच में मौत हो गई 
  • फतेहगढ़ साहिब में शाम नगर के 53 साल के व्यक्ति ने पटियाला रजिंदरा अस्पताल में दम तोड़ दिया। 
  • मालेरकोटला के विनोद (52) की लुधियाना में मौत हुई।
किस जिले में कितने केस...
संगरूर 40, नवांशहर 30, लुधियाना 31, पटियाला 30,  जालंधर 17, अमृतसर 12, बठिंडा 7, पठानकोट 2, मोहाली 15, कपूरथला 5, गुरदासपुर 11, मुक्तसर 6, फरीदकोट 7, फिरोजपुर 1, फतेहगढ़ साहिब 2
कहां कितने मरीज गंभीर
लुधियाना में 16, अमृतसर से 6, जालंधर, होशियारपुर, पटियाला, कपूरथला से 1-1 मरीज ऑक्सीजन व  जालंधर, नवांशहर, लुधियाना, बरनाला में 1-1 वेंटिलेटर पर है।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours