अमृतसर. बाबा बकाला में निहंग मुखी स्व. अजीत सिंह पूहला के डेरे पर कब्जे को लेकर दो गुटों में सोमवार तड़के 3 बजे गोलीबारी हुई। इसमें 1 हमलावर की मौत व 3 जख्मी हो गए। वारदात के समय डेरे में पुलिस भी मौजूद थी। पुलिस के मुताबिक करीब 50 राउंड फायरिंग हुई। हमलावर रणजीत सिंह रणियां निवासी गुरदासपुर समेत 8 को मौके पर गिरफ्तार कर लिया जबकि 20 फरार हो गए। उनसे 3 रायफलें बरामद हुई हैं। मरने वाले की पहचान सुखराज निवासी लोहार गांव के रूप में हुई है। मौके पर मौजूद पुलिस ने उन्हें रोका तो उन्होंने फयरिंग कर दीं। मुलाजिमों ने बरामदे में बुर्जियों की आड़ में जान बचाई।
पहले था हमले का शक, इसलिए ली थी सिक्योरिटी
डेरे में पूहला की मां सविंदर कौर, बहन परमजीत, भतीजा मन्ना व भांजा दिलप्रीत सिंह रहते हैं। डिंपी ने बताया कि मामा अजीत की 2008 में मौत हो गई थी। इसके बाद उनका साथी रणजीत सिंह रणियां निवासी गुरदासपुर जायदाद पर बुरी नीयत रखता है। इसलिए कुछ दिन पहले ही डेरे में सुरक्षा को पुलिस फोर्स तैनात करवा ली थी। सोमवार को जब हमला हुआ तो परिवार सो रहा था। इसी बीच गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी। पुलिस ने 28 पर केस दर्ज किया है। 20 अज्ञात हैं।
डेरे पर कब्जा करके यहां रहने की तैयारी में आए थे हमलावर
हमलावर ट्रैक्टर ट्राली, महिंद्रा पिकअप, 2 बाइकों व एक कार में आए थे। उन्होंने वाहन डेरे के पास पेट्रोल पंप पर खड़े किए थे। ट्रैक्टर ट्राली में एक सिलेंडर, पतीले, गैस भट्ठियां व एक बोरी में राशन था, जिससे साफ था कि वह वहां पर कब्जा करने के बाद जश्न मनाने की तैयारी में थे।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours