नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को आरोप लगाया कि 2,426 कंपनियों ने लोगों की बचत के 1.47 लाख करोड़ रुपये बैंकों से 'लूट' लिए. इसके साथ ही उन्होंने सवाल किया कि क्या सरकार दोषियों को सजा देने के लिए इसकी जांच कराएगी? मीडिया में आई रिपोर्ट्स के बाद राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर ये आरोप लगाया.

नीरव मोदी-ललित मोदी जैसे फरार होने का देंगे मौका?
गांधी ने बिना विवरण दिए ट्विटर पर कहा, ' 2,426 कंपनियों ने लोगों की बचत के 1.47 लाख करोड़ रुपये बैंकों से लूट लिए. क्या ये सरकार इस लूट की तहकीकात करके दोषियों को सजा देगी?' उन्होंने कहा, 'या इन्हें भी नीरव और ललित मोदी जैसे फरार होने देगी?'

गांधी का हमला उन मीडिया रिपोर्ट के बाद सामने आया है, जिसमें दावा किया गया है कि अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) ने 2,426 ऐसे खातों की सूची जारी की है जो 'जानबूझ कर कर्ज नहीं चुकाने' (विलफुल डिफऑल्टर) वाली श्रेणी में हैं और इनमें बैंकों का 1,47,350 करोड़ रुपये बकाया है.

किंगफिशर, गीतांजली जेम्स जैसे डिफॉल्टर शामिल
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस लिस्ट में किंगफिशर एयरलाइन्स, गीतांजली जेम्स, नक्षत्र ब्रांड और विनसम डायमंड्स एंड जूलरी जैसे कई बड़े डिफॉल्टर हैं. वहीं, 2,426 लोगों की लिस्ट में सबसे ज्यादा 685 डिफॉल्टर देश के सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से जुड़े हैं, जिन्होंने 43,887 करोड़ रुपये का कर्ज नहीं चुकाया है.

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours