पटियाला। शहर में एक बार फिर निहंगों ने उत्‍पात मचाया। उन्‍होंने एक प्‍लाट पर कब्‍जे को लेकर तलवारों के साथ हमला बोल दिया। थाना लाहौरी गेट के अधीन आते एसएसटी नगर में दो गुटों में तलवारें चल गई। निहंगों की तरफ से किए गए इस हमले में चार लोग जख्मी हो गए। उन्हें अर्बन एस्टेट स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में दाखिल करवाया गया। घटना उस समय हुई जब एसएसटी नगर स्थित एक शैक्षणिक संस्थान के मालिक अपने प्लाट के पिछले हिस्से में पौधे लगा रहे थे।

पौधे लगाने को लेकर कॉलोनी के लोगों को एतराज था। उनका कहना था कि पौधे लगाने की आड़ में यहां कब्जा हो सकता है। इसी इस बात को लेकर दोनों में तकरार हो गई, जिसने बाद में खूनी झड़प का रूप ले लिया। सूचना मिलने के बाद लाहौरी गेट से पुलिस टीम अस्पताल पहुंची और वकील मनप्रीत बाजवा और राजदीप सिंह के बयानों पर 39 लोगों पर केस दर्ज किया। पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। फुटेज की मदद से पुलिस आरोपितों की पहचान करने में जुटी है। मामले की पुष्टि करते हुए थाना लाहौरी गेट के इंचार्ज गुरप्रताप सिंह ने कहा कि फिलहाल केस दर्ज कर लिया है, आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई।

पुलिस के अनुसार एसएसटी नगर निवासी जगजीत सिंह दर्दी और दूसरे गुट के बीच पिछले कुछ समय से झगड़ा चल रहा था। उसी मामले की रंजिश में राजपुरा से कार में सवार होकर निहंग एसएसटी नगर पहुंचे। जगजीत सिंह दर्दी अपने संस्थान की पिछले हिस्से में स्टाफ के साथ मिलकर पौधे लगा रहे थे। इस दौरान महिलाएं भी बचाव के लिए आ पहुंची। उनकी भी निहंगों से हाथापाई हुई।

मौके पर पहुंची लाहौरी थाना पुलिस ने वकील मनप्रीत सिंह बाजवा की शिकायत पर दमदमी टकसाल राजपुरा के इंचार्ज बलजिंदर परवाना, वरिष्ठ पत्रकार जगजीत सिंह दर्दी, परमजीत सिंह, गुड्डू वेल्डर और 35 अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया हैं। थाना इंचार्ज गुरप्रताप सिंह ने कहा कि घटना की सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ले ली है। तलवारों से लैस निहंगों ने दूसरे गुट पर हमला किया था। इस संबंध में जब जगजीत सिंह दर्दी से फोन पर संपर्क करने की कोशिश की तो उनका फोन स्विच ऑफ था।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours