जालंधर. सूबे मे हर रोज दूसरे राज्यों से हजारों की संख्या में लोग आ रहे हैं। ऐसे में सूबा सरकार ने हाई रिस्क जोन और दिल्ली समेत दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए सख्ती बढ़ा दी है। भारत सरकार द्वारा घरेलू यात्रियों के लिए घरेलू एकांतवास की जगह स्व-निगरानी के विचार से सहमति न जताते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसे रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा, किसी भी वाहन को पंजाब कोविड हेल्पलाइन पर रजिस्टर किए बिना पंजाब में प्रवेश करने की इजाज़त नहीं दी जाएगी।
शुक्रवार को स्टेट कोविड-19 कंट्रोल रूम की तरफ से जारी निर्देशों के अनुसार अब 7 तारीख के बाद पंजाब में आने वाले हर व्यक्ति को कोवा एप के जरिये रजिस्ट्रेशन करवानी जरूरी होगी। इसके लिए साइट्स पर जाकर आने वाले लोगों की portalhttps/ covapunjab.gov.in/registration पर जाकर रजिस्ट्रेशन होगी। यह नियम पंजाब में प्रवेश होने वाले सभी लोगों के लिए जारी होंगे। चाहे कोई व्यक्ति रेल, हवाई या सड़क के रास्ते ही पंजाब क्यों न आ रहा हो। रजिस्ट्रेशन से जारी बारकोड वाहन स्क्रीन पर न लगाए जाने पर पंजाब में एंट्री नहीं मिलेगी।
रोजाना अपडेट करना होगा हेल्थ स्टेटस
पंजाब में आने के बाद हर व्यक्ति को 14 दिनों के लिए सेल्फ क्वारेंटाइन होना होगा। 14 दिन उन्हें रोजाना कोवा एप पर हेल्थ स्टेट्स अपडेट करना होगा या 112 पर जानकारी देनी होगी। लक्ष्ण आने पर खुद जांच करवानी होगी। विदेश से लौटे व्यक्ति को 7 दिनों के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन व अगले 7 दिन घर पर जाकर आइसोलेट होना होगा।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours