Report: Ravi Kumar
चंडीगढ़। पंजाब के विद्यार्थियों की मुफ्त स्‍मार्ट फोन मिलने की मुराद करीब तीन साल बाद पूरी होनी शुरू हो गई है। कांग्रेस की ओर से विधानसभा चुनाव 2017 में युवाओं को स्मार्ट फोन देने के लिए किए गए वादे को पूरा करने की शुरूआत बुधवार काे हुई। प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 'पंजाब स्मार्ट कनेक्ट स्कीम' की शुरूआत की। उन्होंने खुद 12वीं कक्षा के छह विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन भेंट किए।

छह विद्यार्थियों को फोन देकर मुख्यमंत्री ने शुरू की 'पंजाब स्मार्ट कनेक्ट स्कीम'
घोषणा के तीन साल बाद राज्य में एक साथ विभिन्न जिलों में 26 स्थानों पर मंत्रियों व विधायकों ने 20 -20 विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन दिए। हर जिले की देख रेख का जिम्मा मंत्रियों को सौंपा गया है। सरकार ने साल 2017-18 के बजट में इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का प्राविधान किया था। योजना के पहले पड़ाव को नवंबर, 2020 तक पूरा किया जाएगा, जिस पर 92 करोड़ रुपये खर्च करके सरकारी स्कूलों के 12वीं कक्षा के 1,74,015 विद्यार्थियों फोन दिए जाएंगे। इनमें लड़कियों की संख्या 86,620 है। जबकि 1,11,857 विद्यार्थी ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित हैैं।

पहले पड़ाव में नवंबर तक 12वीं कक्षा के 1,74,015 विद्यार्थियों को मिलेंगे फोन
मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के संकट में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के कारण मोबाइल फोन की उपयोगिता और बढ़ गई है। योजना का उद्देश्य वैश्विक संचार सुविधा मुहैया करवाने के साथ ही उन गरीब युवाओं का सशक्तिकरण करना है जो स्मार्ट फोन नहीं ले सकते।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours