चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने कोरोना को लेकर दुष्‍प्रचार करने वालों के खिलाफ कड़े कदम उठाए हैं। राज्‍य में इस संबंध में 121 केस दर्ज किए गए हैं और 108 साेश मीडिया अकाउंट ब्‍लॉक कर दिए गए हैं। कोरोना की आड़ में मानव अंगों की तस्करी होने और अन्य दुष्प्रचार करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए पंजाब पुलिस ने 38 फेसबुक, 49 ट्विटर और 21 यू-ट्यूब अकाउंट को ब्लॉक करवा दिया है।

डीजीपी दिनकर गुप्ता के अनुसार फेसबुक, ट्विटर और गूगल के अधिकारियों को कुल 151 फेसबुक, 100 ट्विटर, चार इंस्टाग्राम और 37 यू-ट्यूब अकाउंट का विवरण भेज कर उन्हें ब्लॉक करने के लिए कहा गया है। इन अकाउंट्स को चलाने वालों के खिलाफ अब तक 121 केस दर्ज किए गए हैैं।

उन्होंने बताया कि पुलिस के ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन ने सोशल मीडिया पर कोरोना के संबंध में दुष्प्रचार करने को लेकर केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साइबर लॉ डिवीजन से संपर्क किया था। जिसके बाद अब तक 108 अकाउंट ब्लॉक किए जा चुके हैं। शेष अकाउंट्स पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी।

ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के निदेशक एडीजीपी अर्पित शुक्ला ने कहा कि फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया मंच के अधिकारियों से दुष्प्रचार करने वाले लोगों की जानकारी भी मांगी गई है। ऐसे लोगों के खिलाफ आइटी एक्ट 2000 और भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने लोगों से दुष्प्रचार से सचेत रहने की अपील की। साथ ही सरकार द्वारा दिए जा रहे निर्देशों को मानने की सलाह दी। शुकला ने कहा कि कोरोना काल में मानव अंगों की तस्करी के झूठे प्रचार से बचने की जरूरत है। लोग कोरोना टैस्ट करवाने से पीछे न हटें, नहीं तो महामारी से निजात पाने के प्रयासों को आघात पहुंचा सकता है।  
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours