मोहाली/जीरकपुर (रोहित) जहां एक तरफ देश में कोरोना जैसी महामारी ने लोगों का जीना मुश्किल किया हुआ है बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है वहीं किछ नकली इमीग्रेशन एजेंट पंजाब के बेरोजगारों से विदेश भेजने के नाम पर ठगियां मार रहे हैं और पुलिस मूकदर्शक बन देख रही है। ऐसा ही कुछ चल रहा है मोहाली में स्थित जीरकपुर में' जहां विदेश भेजने के नाम पर लगातार मासूम और भोले -भाले लोगों से लाखों रुपये विदेश भेजने के नाम पर लुटे जा रहे हैं। पिछले कई महीनों से जीरकपुर में अग्यात ठगों दुवारा विदेश भेजने के नाम पर ठगी की जा रही है। जिस को देखते हुए जीरकपुर पुलिस थाने के इंचार्ज इंस्पेक्टर गुरवंत सिंह ने कई नकली वीज़ा एजेंटों के खिलाफ सख़्त कारवाही करते हुए केस दर्ज किए । जिस से जीरकपुर में नकली वीज़ा एजेंटों में खोफ पैदा होना ज़रूरी था। पिछले दिनों भी जीरकपुर पुलिस ने 4 वीज़ा एजेंटों के दफ्तरों पर छापेमारी की जिस में 2 लड़कियां और एक पुरुष को गिरफ्तार किया गया जिन पर सख्त कार्यवाही करते हुए जीरकपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। इन ठगों को रोकना सिर्फ पुलिस के हाथ में नहीं है आम जनता को भी पैसे देने से पहले स्थानिय पुलिस थाने इन एजेंटों के बारे में जानकारी ले कर ही पैसे दें। आम जनता को भी अपनी ज़िम्मेदारी को समझना होगा। आम जनता को भी दोष नहीं दिया जा सकता आज के समय देश में बेरोज़गारी के जो हालात हैं इतना बड़ा संकट कभी पैदा नहीं हुआ था जिस को देखते हुए बेरोज़गार नोजवान विदेशों में जा कर अपने सुनहरी भविष्य के सपने देखते हैं जिन सपनों को यह नकली इमीग्रेशन एजेंट बहुत बुरी तरह तोड़ डालते हैं । इन नकली एजेंटों ने कभी यह न सोचा कि यह गरीबी के मारे लोग किस तरह थोड़े पैसों का जुगाड़ कर देते हैं जिस पैसे को यह नकली एजेंट अपनी गाड़ी कमाई समझते हैं। इन बेरोज़गार लोगों को चाहिए कि किसी भी एजेंट से अगर आप मिलते हक़ीन तो एक बार सथानीय पुलिस थाने से उस वयक्ति के बारे में जानकारी हासिल करें कि क्या यह सरकार से मान्यता प्राप्त वीज़ा एजेंट है या कोई नोसरबाज़ है। सतर्क रहिए और सावधान रहिए।इन मृत ज़मीर लोगों से अपने खून पसीने की कमाई और समय बचा कर रखिए।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours