चंडीगढ़। शिक्षा विभाग में कार्यरत सेवामुक्त हुए 155 कंप्यूटर टीचर में से करीब 50 टीचर्स को कांट्रेक्टर की तरफ से सोमवार को जॉइनिंग की हरी झंडी दे दी गई है। इन टीचर्स को कांट्रेक्टर के साथ नौकरी में बने रहने के बदले में पैसे ना देने के कारण विभाग ने रिलीव किया था। चार महीनों तक वेतन ना जारी होने के बाद एक अक्टूबर को इन्हें सेवा मुक्त किया गया था। जिसके बाद कुछ टीचर ने कैट की शरण ली थी, तो कुछ टीचर्स ने भारतीय मजदूर संघ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद सहित गवर्नर का दरवाजा खटखटाया था। जिसके बाद सोमवार को करीब 50 टीचर के साथ कांट्रैक्टर की बातचीत हुई और उन्होंने टीचर्स को जॉइनिंग के आदेश दिए है।

जल्द ज्वाइन करेंगे स्कूल

कांट्रेक्टर की तरफ से स्कूलों को ज्वाइन करने की अनुमति मिलने के बाद टीचर्स जल्द ही स्कूल ज्वाइन करेंगे विभागीय सूत्रों की माने तो जिन टीचर्स को कांट्रेक्टर ने ज्वाइन करने की अनुमति दी है उनमें से कोई भी कैट में नहीं गया था यह टीचर आज और कल के बीच ज्वाइन कर सकते हैं, हालांकि इनकी जोइनिंग पर बोलने के लिए कोई भी विभाग का अधिकारी या स्कूल प्रिंसिपल तैयार नहीं है।

टीचर्स की कमी में रुका हुआ है स्कूलों का काम

एक अक्टूबर को कंप्यूटर टीचर को रिलीव करने के बाद शहर के स्कूलों का ज्यादातर काम रुक चुका है। सबसे ज्यादा परेशानी 11वीं और 12वीं क्लास में कंप्यूटर साइंस पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को आ रहा है। स्कूल 21 सितंबर को खुल चुके थे, जिसके बाद स्टूडेंट जरूरत के अनुसार स्कूल आ रहे थे, लेकिन कंप्यूटर साइंस से संबंधित कोई भी स्टूडेंट अभी तक स्कूल नहीं पहुंच पाया है। ऐसे में सबसे पहले फायदा कंप्यूटर साइंस पढ़ने वाले करीब पंद्रह सौ स्टूडेंट्स को मिलेगा इसके साथ साथ जो भी डाटा स्कूलों से सीबीएसई और एमएचआरडी को जाता था वह भी अब जल्द जा पाएगा।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours