चंडीगढ़। कृषि कानूनों को लेकर आंदोलित किसानों के मुद्दे पर पंजाब व हरियाणा पूरी तरह से आमने-सामने हैं। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल का दावा है कि उन्होंने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह फोन पर बातचीत का प्रयास किया, जबकि कैैैैैैप्टन इसे झूठा दावा करार दे रहे हैं।  कैप्टन का कहना है कि मनोहर लाल ने उनसे बातचीत के लिए आधिकारिक चैनल या फिर उनके मोबाइल पर फोन क्यों नहीं किया। 

बता दें, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल का कहना है कि उन्होंनेे कैप्टन अमरिंदर सिंह को बार-बार फोन इसलिए किया, ताकि कोरोना काल में हरियाणा में भीड़ न जुटे। लेकिन, बार-बार फोन करने के प्रयासों के बावजूद कैप्टन ने बात नहीं की। जब हरियाणा ने यह बात सार्वजनिक की तो पंजाब के सीएम का कहना है कि मनोहर लाल झूठ बोल रहे हैं। मनोहर लाल के इस बयान पर कैप्टन का कहना है कि वह सीधेे मोबाइल फोन पर उनसे बात कर सकते थे, लेकिन मनोहर लाल ने ऐसा क्यों नहीं किया।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सरकारी रजिस्टर का पन्ना दिखाकर वह झूठ पर पर्दा नहीं डाल सकते। यदि वह सचमुच ही उनसे संपर्क साधना चाहते थे तो वह अधिकारिक ढंग से बातचीत कर सकते थे या फिर उनके मोबाइल फ़ोन पर काल कर सकते थे। मनोहर लाल के दावों को खारिज करते हुए कैप्टन ने कहा कि यदि हरियाणा के सीएम मनोहर लाल के दफ़्तर सेे उनकी रिहायश पर काल की भी गई थी तो यह काल एक अटेंडेंंट को ही क्यों की गई। उनके साथ संपर्क कायम करन के लिए अधिकारिक तरीके का प्रयोग क्यों नहीं किया गया।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours