चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्‍य में आंदोलनकारी किसानों के नेताओं घरों में जबरन घुसने की घटनाओं पर चिंता जताई है। उन्‍होंने आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में कुछ प्रदर्शनकारियों के राजनीतिक नेताओं और वर्करों के घरों में जबरन दाखिल होने पर गंभीर नोटिस लिया है और ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि ऐसा विरोध पंजाबियत की भावना के बिल्कुल विपरीत है और इसे किसी तरह भी सहन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी किसानों के हकों के लिए अपनी लड़ाई लड़ें लेकिन कानून को हाथों में न लें।

मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि इस तरह की घटनाएं चिंताजनक हैं। उन्‍होंने प्रदर्शनकारियों से राज्‍य में भाजपा  या किसी भी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के परिवार को इस तरह प्रदर्शन कर परेशान न करने की अपील की। यह बेहद गलत है। बता दें कि राज्‍य में किसान भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ उनके घरों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। भाजपा नेता व पूर्व मंत्री तीक्ष्‍ण्‍ा सूद के घर में घुसकर प्रदर्शनकारी किसानों ने गोबर फेंक दिया।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours