मोहाली (रोहित ) मोहाली शहर में सेंकडों की संखिया में इमीग्रेशन कंसल्टेंसी लाइसेंस होल्डर दफ्तर हैं और यह बात भी किसी से छुपी हुई नहीं है कि यह दफ्तर अपने नकली नामों से फेस बुक ,इन्स्टाग्राम , जॉब्स डॉट कौम , कविक्र , और नकली नामों से वेब साईट बना कर कनाडा ,ऑस्ट्रलिया, न्यूजीलैंड,सिंगापुर  के नाम पर विज्ञापन दिए जा रहे हैं और सरे आम पुलिस की नाक के निचे बिना मैनपावर लाइसेंस क काम किया जा रहा है जिस की वजह से लोग अपनी खून पसीने की कमाई से हाथ धो रहे हैं हम ने पहले भी इस मोहाली पुलिस को कई बार बताया कि कैसे नकली नामों और नकली सिम कार्ड्स या whatsapp पर बनाए गए नंबर से कॉल कर के लोगों को विदेश भेजने के नाम पर लुटा जा रहा है लेकिन हमेशा की तरह पुलिस को किसी की बली ही चाहिए होती है ऐसा ही कुछ देखने को मिला कि मोहाली शहर में स्थित एक कंसल्टेंसी लाइसेंस वाला दफ्तर ' डाउन - टाउन ओवरसीज जो खुद को स्टडी वीजा पर काम करने वाला शो करता था लेकिन उस ने भी फेस बुक पर कनाडा वर्क परमिट के नाम पर नकली विज्ञापन दे कर 'कठुआ निवासी महिला और उस के कज़न से लाखों रूपये की ठगी मार ली और जब महिला ने एस,एस,पी मोहाली को इस बारे में जानकारी दी तो तुरंत कारवाही करते हुए 'डाउन - टाउन ओवरसीज के मालिक बलविंदर के खिलाफ कई धाराओं 420,465,467,468,471, और 24 इमीग्रेशन एक्ट के तेहत मुकदमा दर्ज कर लिया है हम ने कई बार पुलिस के बड़े अधिकारीयों को इस बारे में कई बार जानकारी दी है कि मोहाली शहर में लगातर कंसल्टेंसी लाइसेंस पर कनाडा वर्क परमिट का गोर्ख धंधा चल रहा है लेकीन पुलिस पर जैसे इन बातों का कोई भी असर नहीं होता और जब लोगों से ठगी की शिकायतें सामने आती हैं तो पुलिस हरकत में आती है हमारे समाचारपत्र इन्साफ एक्सप्रेस ने जब इन लाइसेंस होल्डर दफ्तरों की जानकारी एकत्रित करनी शुरू की तो पता चला कि एक दो नहीं बल्कि ज़यादातर कंसल्टेंसी वाले लाइसेंस होल्डर इमीग्रेशन दफ्तर फेसबुक पर कनाडा वर्क परमिट के नाम पर लोगों को मुर्ख बना रहे हैं और पुलिस हमेशा की तरह नींद में ही रहती है मोहाली के फेज 1 से ले कर फेज 11 तक कई ऐसे कंसल्टेंसी लाइसेंस होल्डर फेसबुक पर कनाडा वर्क परमिट का लुभावना सपना बेच रहे हैं जिस की जानकारी हम पुलिस को दे चुके हैं मोहाली के इंडस्ट्रियल एरिया 8 ,3 में भी कई आई लेट्स और कंसल्टेंसी लाइसेंस वाले कनाडा वर्क परमिट का काम कर रहे हैं हम ने खुद क्लाइंट बन कर जब इन सब से सम्पर्क साधा तो यह लोग बिना डर और खौफ के लाखों रूपये की डिमाण्ड कनाडा वर्क परमिट के लिए करने लगे .....एक इमीग्रेशन दफ्तर वाले ने तो हमें नकली वर्क experience 40000 का  बना कर कनाडा का वर्क वीजा दिलवाने की बात कही जिस के पूरी कॉल रिकॉर्डिंग और विज्ञापन हमारे पास हैं लेकिन सिर्फ पुलिस को एक और मौका देते हुए हम ने सिर्फ अखबार की तरफ से फेज 11 में स्थित एक इमीग्रेशन दफ्तर के खिलाफ फेज 11 के पुलिस थाणे में शिकयत दर्ज करवाई है अगर पुलिस इस बारे में काम करती है तो हम सब के सब नाम एस,एस,पी मोहाली सतिंदर सिंह को दे देंगे अन्यथा मुख्यमंत्री पंजाब ,गृह विभाग ,डी,जी,पी पंजाब को इन सब के दफ्तरों की जानकारी दे दी जाएगी जिस से कम से कम इन मृत ज़मीर इमीग्रेशन दफ्तरों के खिलाफ एक बड़ी कारवाही सरकार दुवारा की जाएगी और आम जनता को इन सब से निजात भी मिल जाएगी    

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours