मोहाली (रोहित) मोहाली शहर लगातार कनाडा वर्क परमिट के नाम पर ठगी का अड्डा बनता जा रहा है । इमीग्रेशन दफ्तरों दुवारा जब भी कनाडा के नाम पर ठगी होती है तब मोहाली पुलिस नींद से जाग कर एक केस दर्ज कर लेती है लेकिन उसके बावाजूद अभी तक इन नकली कनाडा वर्क परमिट करने वालों के खिलाफ कोई पुख्ता कारवाही नहीं कर सकी। जिस का नतीजा यह निकला कि कुछ कंसल्टेंसी लाइसेंस वालों का झुंड कनाडा वर्क परमिट के नाम पर लपगों को मूर्ख बनाने का काम कर रहे हैं । यह इतने शातिर दिमाग के लोग हैं कि इनके खिलाफ सबूत ढूंढना पुलिस के लिए भी आसान नहीं होगा । यह दफ्तर कहीं कहीं पुलिस की लापरवाही की वजह से फल फूल रहे हैं और आए दिन मोहाली शहर में ठगी का तांडव करते हुए नज़र आते हैं । फेज 11 में भी ऐसे कई कंसल्टेंसी लाइसेंस वाले कैन्स वर्क परमिट का धंधा जमाये बैठे हैं इन दफ्तरों के पास MEA लाइसेंस नहीं है फिर भी यह विदेशों में नॉकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपये जनता से ले लेते हैं । हमारे दुवारा के बार फेज 11 की पुलिस को इस बाबत बताया गया लेकिन इमीग्रेशन दफ्तरों के खिलाफ शिकायत के नाम पर पुलिस को सांप सूंघ जाता है उनको सुनना बंद हो जाता है और सीधा कह देते हैं कि इस के बारे में आपको एस, एस, पी मोहाली से ही बात करनी होगी ।

कोरोना की वजह से पहले ही लोग अपनी जान,अपने कारोबार,अपनी नॉकरी से हाथ धो बैठे हैं जिस के कारण यह लोग यह सोचते हैं कि वो विदेश में नॉकरी कर अपने परिवार को एक अच्छा भविष्य दे सकते हैं लेकिन यह नकली वीज़ा के दलाल ऐसे लोगों को ही अपना शिकार बना लेते हैं ।

और जब कोई अनहोनी हो जाती है तो पुलिस अपनी ड्यूटी का धन्डोर पीटना शुरू कर देती है ।

पुलिस का ऐसे लोगों के खिलाफ कोई सख्त कारवाही न करने की वजह से जनता लुट रही है और पुलिस इनका तमाशा देख रही है ।


Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours