बिना लाइसेंस,बिना वेरिफिकेशन नकली एजेंट खोल रहे हैं चंडीगढ़ में वर्क परमिट की दुकानें।


चंडीगढ़ (रोहित कुमार) मोहाली,जीरकपुर,खरड़ से भागे हुए वीज़ा एजेंट अब चंडीगढ़ में बैठ कर विदेश भेजने के नाम पर जनता को निशाना बना रहे हैं । क्योंकि चंडीगढ़ में न तो किसी तरह का डी, सी लाइसेंस चाहिए और न ही MEA लाइसेंस की ज़रूरत है जिस की वजह से यह नकली वीज़ा एजेंट अब चंडीगढ़ में अपनी जड़ें मजबूत कर चुके हैं आये दिन चंडीगढ़ से कई नकली वीसा एजेंट लोगों से विदेश में नॉकरी लगवाने के झांसा दे कर लाखों रुपये ले कर फरार हो जाते हैं । 

नकली पते, नकली सिम कार्ड,नकली रेंट एग्रीमेंट होने की वजह से कई बार पुलिस इन लोगों तक पहुंचने में कामयाब नही हो पाती।

ऐसे नकली दफ्तरों की भरमार पूरे चण्डीगढ़ के हर सैक्टर में है जहां यह कनाडा और अन्य देशों में पक्की नॉकरी लगवाने के नाम पर लाखों रुपया ठग कर फरार हो जाते हैं।इस लिए चंडीगढ़ प्रशासन को भी कोई ऐसा कानून बनाना होगा जिस से ऐसे लोगों की पहचान करना आसान हो।

चंडीगढ़ में लगभग हर सैक्टर में ऐसे सैंकड़ों नकली इमीग्रेशन दफ्तर हैं जो सरेआम लोगों को कनाडा और अन्य देशों में नॉकरी दिलवाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं।इन में अधिकतर इमीग्रेशन वाले मोहाली और पंजाब के अन्य शहरों से आ कर अपनी दुकानें सजाई बैठे हैं।

पुलिस को ऐसे इमीग्रेशन दफ्तरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करनी चाहिए।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours