Insaf express

Ravi kumar

शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 भारत को विश्वगुरू के सिंहासन पर विराजमान करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके माध्यम से एक ऐसी शिक्षा अपने बच्चों को देना चाहते हैं जिसके दम पर बच्चे वैश्विक बन सकें और विश्व की ज्ञान की वह शक्ति भारत बने जिस दिशा में यह शिक्षा नीति कार्य कर रही है।


 


शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर आज धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश समग्र शिक्षा के तत्वाधान में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के क्रियान्वयन को लेकर आयोजित जिला स्तरीय परामर्श कार्यशाला में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करने के उपरांत बोल रहे थे।


  इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने प्रदेश के सभी जिलों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लेकर परामर्श कार्यशालाओं का आयोजन करने तथा स्टार्स प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया। हिमाचल प्रदेश में इसका शुभारंभ आज जिला कांगड़ा से किया गया। उन्होंने बताया कि यह स्टार्स प्रोजेक्ट विश्व बैंक के सौजन्य से भारत सरकार द्वारा देश के छः राज्यों में चलाया जा रहा है। जिसमें हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल, उड़ीसा, महाराष्ट्र, और राजस्थान हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट के माध्यम से  बच्चों को शुरूआती शिक्षा और मजबूत अधिगम तथा आधारभूत संरचना को मजबूती प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा नीति के ढ़ाचे को चुस्त-दुरूस्त करने के लिए स्टार प्रोजेक्ट के तहत हिमाचल प्रदेश को 650 करोड़ रुपये प्राप्त होंगें उन्होंने कहा कि यह प्रोजेक्ट पांच वर्ष तक कार्य करेगा।


  राज्य परियोजना निदेशक डॉ.वीरेन्द्र शर्मा ने प्रदेश में किये जा रहे राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के प्रयासों पर प्रस्तुति दी तथा जिला परियोजना अधिकारी विनोद चौधरी ने जिला में किए गये प्रयासों पर प्रकाश डाला।

  कार्यशाला में विद्या भारती उत्तर क्षेत्र महामंत्री तथा राज्य टास्क फोर्स सदस्य देसराज शर्मा ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के प्रावधानों पर अपनी प्रस्तुति  दी। इसके उपरांत सभी हितधारकों के दस समूहों में स्कूली शिक्षा के दस विषयों पर चर्चा परिचर्चा करके सुझाव प्रस्तुत किये। इस दौरान शिक्षा मंत्री ने हितकारकों द्वारा दिये गये सुझावों पर क्रियान्वयन करने की प्रतिबद्धता दिखाई।



कार्यशाला में नगरोटा बगवां के विधायक अरूण मेहरा, शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ.सुरेश सोनी, उपनिदेशक उच्च शिक्षा रेखा कपूर, उपनिदेशक प्रारम्भिक शिक्षा महिन्द्र कुमार, जिला परियोजना अधिकारी कांगड़ा विनोद चौधरी, जिला परियोजना अधिकारी चम्बा राजेश शर्मा, राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के राज्य टास्क फोर्स सदस्य डॉ.जोगिन्द्र सिंह, यशवंत, दीपक, अजय आचार्य, राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के प्रदेश टास्क फोर्स सदस्य, जिला टास्क फोर्स सदस्य, प्रधानाचार्य, मुख्याध्यापक, खंड शिक्षा अधिकारी, खंड स्त्रोत्र समन्वयक, राज्य समन्वयक डॉ.शिखा शर्मा, जिला समन्वयक मोहिन्द्र सिंह, रत्न ठाकुर, बच्चों के अभिभावक, स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष, पंचायतों के प्रधान, एनजीओ के सदस्य तथा डाईट प्रशिक्षुओं सहित अधिकारियों तथा 150 हितधारकों ने भाग लिया।

Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours